Archivers

आज श्राद्ध का दिन है

एक बार रामानंद जी ने कबीर जी से कहा की हे कबीर आज श्राद्ध का दिन है और पितरो के लिये खीर बनानी है. आप जाइये पितरो की खीर के लिये दुध ले आइये.. कबीर जी उस समय 9 वर्ष के ही थे..

कबीर जी दुध का बरतन लेकर चल पडे… चलते चलते आगे एक गाय मरी हुई पडी थी.. कबीर जी ने आस पास से घास को उखाड कर गाय के पास डाल दिया और वही पर बैठ गये.. दुध का बरतन भी पास ही रख लिया… जब काफी देर हो गयी तो रामानंद ने सोचा.. पितरो को छिकाने का टाइम हो गया है.. कबीर अभी तक नही आया.. तो रामानंद जी खुद चल पडे दुध लेने..चले जा रहे थे तो आगे देखा की कबीर जी एक मरी हुई गाय के पास बरतन रखे बैठे है…

रामानंद जी बोले अरे कबीर तु दुध लेने नही गया.. कबीर जी बोले स्वामी जी ये गाये पहले घास खायेगी तभी तो दुध देगी.. रामानंद बोले अरे ये गाये तो मरी हुई है ये घास कैसे खायेगी??

कबीर जी बोले स्वामी जी ये गाय तो आज मरी है.. जब आज मरी गाय घास नही खा सकती.. तो आपके 100 साल पहले मरे पितर खीर कैसे खायेगे…?? !!

अतः जो जीवित है उनकी सेवा करो…!!

प्राचीन समय की बात हैं
December 19, 2017
एक दिन मोर ने मोरनी से प्रस्ताव रखा
December 19, 2017

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Archivers